26 January Kyu Manaya Jata Hai – 26 जनवरी क्यों मनाया जाता है ?

26 January Kyu Manaya Jata Hai : तो दोस्तों यहां हम आपको एक ऐसे विषय के बारे में बताने जा रहे हैं जो कि आपने कई बार मनाया भी होगा और इसके बारे में जानने की भी कोशिश करी होगी. परंतु आजकल के बच्चों को इसके बारे में कम ज्ञान है और हमारी पुरानी पीढ़ी को सिर्फ बताया कि गणतंत्र दिवस हमेशा हर साल की उम्र मनाया जाता है.

वैसे तो यह कोई बहुत बड़ा सवाल नहीं है. परंतु अगर आप भारत में रहने वाले नागरिक हैं.

तो इसके लिए आपको एक अलग से ही अभिमान महसूस होता है कि आप भारत देश के देशवासी हैं.

सबसे पहले हमारे सभी नागरिकों को और इस देश में रहने वाले सभी लोगों को यह पता होना चाहिए कि आखिरकार आने वाला हमारा 26 जनवरी का दिन क्यों इतना धूमधाम से मनाया जाता है ?

तो चलिए हम आपको इसके बारे में नीचे विस्तार से बताते हैं. ताकि आप अच्छे से समझ पाएगी.

आखिरकार 26 जनवरी क्यों मनाई जाती है ? और यह आप अपने आने वाली पीढ़ी और भविष्य पीढ़ी को भी अच्छे से समझा पाए.

गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता है – 26 January Kyu Manaya Jata Hai

वैसे तो आपने देखा होगा कि हर साल भारत में 26 जनवरी यानी कि Republic Day यानी गणतंत्र दिवस बहुत ही ज्यादा धूमधाम से मनाया जाता है.

26 January Kyu Manaya Jata Hai

पहली बार गणतंत्र दिवस कब मनाया गया

ऐसा इसलिए होता है क्योंकि 26 जनवरी 1950 वाले दिन सुबह 10:18 पर हमारे भारत देश का संविधान लागू किया गया था.

26 जनवरी 1950 का दिन

इसीलिए इस मौके को इस दिन पर हम सभी विभिन्न विभिन्न कार्य करो कार्यक्रमों के आयोजन करते हैं.

और साथ में देश की राजधानी दिल्ली में एक राजपथ पर परेड भी हमें देखने को मिलती है.

26 जनवरी को झंडा कौन फहराता है ?

वैसे तो गणतंत्र दिवस एक ऐसा दिन है. जिस दिन आप सभी स्वतंत्रता सेनानियों और सभी वीर योद्धाओं को समर्पण करते हैं.

दिन ज्यादातर देश के लोग अपने वीर योद्धाओं को याद करते हैं और उन्हें श्रद्धांजलि देते हैं.

साथ में राष्ट्रपति द्वारा हर साल हमारे भारत का तिरंगा झंडा भी फहराया जाता है.

और साथ में 21 तोपों की सलामी भी दी जाती है.

वैसे तो गणतंत्र दिवस वाले दिन पूरे देश में राष्ट्रीय अवकाश यानी National Holiday घोषित कर दिया जाता है.

और ज्यादातर आपने देखा होगा कि कई स्कूलों में और कई Organisation में इस दिन कई सारे बहुत ही सुंदर तरीके से कार्यक्रम आयोजित करे जाते हैं.

वैसे तो अगर आपने 26 जनवरी के बारे में ज्यादा Research किया होगा.

तो आपको यह पहले से पता होगा कि सन 1948 के शुरुआत में ही हमारे डॉक्टर बी आर अंबेडकर जी ने यह संविधान की पहली रूपरेखा,

हमारा संविधान सभा में प्रस्तुत कर दी थी.

परंतु कुछ Changing और कुछ संशोधनों के कारण, इसको नवंबर सन 1949 में Accept किया गया था.

फिर जाकर इसे 26 जनवरी सन 1950 को ही संविधान लागू किया गया था.

और यही कारण है कि उस 26 जनवरी 1950 से लेकर अब तक के हर साल इस दिन को पूरे भारत देश में गणतंत्र दिवस बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है.

वैसे तो वह हम आपकी जानकारी के लिए यह बताना चाहेंगे कि 2023 में हम सभी 74वा Republic Day ( 74th Republic Day ) मनाने वाले हैं.

अरे यह तो बहुत ही कम लोगों को पता होगा कि इस दुनिया में भारत का संविधान सिर्फ एकमात्र ऐसा संविधान है,

जिसे बड़ा लिखित संविधान भी कहा जाता है.

26 जनवरी 1950 को कैसे लागू हुआ संविधान – 26 जनवरी का इतिहास

सन 1947 की आजादी के बाद हमारे संविधान सभा में प्रमुख सदस्य हमारे डॉ भीमराव अंबेडकर, डॉ राजेंद्र प्रसाद, जवाहरलाल नेहरू, मौलाना अब्दुल कलाम आजाद और सरदार वल्लभभाई पटेल जी थे.

वैसे के लिए तो संविधान निर्माण में कुल मिलाकर 22 समितियां हुआ करती थी.

जिसमें से ड्राफ्टिंग कमिटी (Drafting Committee) यानी की प्रारूप समिति सबसे महत्वपूर्ण और सबसे प्रमुख समिति हुआ करती थी.

और इस समिति का संपूर्ण कार्य हमारे संविधान को लिखना यानी कि निर्माण करना हुआ करता था.

हमारे इस ड्राफ्टिंग कमिटी यानी कि प्रसव उप समिति ने,

और उसमें हमारे मेन सदस्य प्रमुख सदस्य यानी कि विशेष रूप से हमारे डॉक्टर भीमराव अंबेडकर जी,

ने भारतीय संविधान का निर्माण करने में लगभग 2 साल 11 महीने और 18 दिन लिए थे.

तब जाकर उन्होंने संविधान सभा के अध्यक्ष हमारे डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद जी को 26 नवंबर सन 1949,

को ही भारत का संविधान सुपुर्द कर दिया था यानी कि प्रस्तुत कर दिया था.

भारतीय संविधान 26 जनवरी 1950 को ही क्यों लागू हुआ

परंतु हम गणतंत्र दिवस 26 जनवरी सन 1950 को ही लागू किया गया था.

ऐसा ही मानते हैं इस दिन को चयन करने का सबसे मुख्य और महत्वपूर्ण वजह यह थी,

कि इसी दिन लाहौर कांग्रेश विदेशन है यानी कि इसी दिन 26 जनवरी 1929,

को सबसे पहली बार पूरे गणराज्य का प्रस्ताव पेश कर दिया गया था.

Read Also : Tally Prime Me Company Delete Kaise Kare ?

और यही वजह है कि 26 जनवरी के ही दिन हमारे भारत का संविधान लागू किया गया था.

और तब से हम सभी भारतवासी इसी दिन को बड़े ही धूमधाम से गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते आ रहे हैं.

Conclusion

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है कि आपको यह समझ आ गया होगा कि क्या वजह है कि हर साल गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता है ?

और आपको हमारे इस आने वाले 74th Republic Day की आपको बहुत-बहुत शुभकामनाएं.

हैप्पी रिपब्लिक डे / Happy Republic Day … !!!

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *